Mahalaxmi Ji Kahan Rahti Hain Tatha Anya Kahaniyan

By Dr.Madhu Dhawan

SKU: 9789350728635

Availability: In stock

Rs. 250.00

Sample content of the static block - primary column bottom.

" किसी भी देश के विकास में संस्कार-क्षम शिक्षा ही वह महत्त्वपूर्ण ऊर्जा स्रोतहै, जिसके बल पर भौतिक,सामाजिक,आध्यत्मिक,एवं चतुर्दिक मार्ग प्रशस्त होता है और जन-जन में उस संस्कार-क्षम शिक्षा के विशेषज्ञों से दया, परोपकार,समसेवा,निष्काम कर्म की अभिप्रेरणा त्याग,बलिदान आदि सर्वोत्त्म गुणों का अभ्युदयतथा अभिवर्धन होता है। धार्मिक कथाओं का यह संग्रह युवावर्ग को समर्पित है। "

Details

Details

डॉ. मधु धवन सौ से अधिक पुस्तकों की रचयिता मधु धवन का जन्म 1952 में हुआ। मधु धवन विगत 30 वर्षों से हिन्दी प्रचार-प्रसार में जुटी हैं। आप सशक्त लेखिका और शिक्षाविद् हैं। आपने दक्षिण में हिन्दी अध्ययन- अध्यापन की समस्याओं के निवारणार्थ स्कूल शिक्षकों के लिए लगभग 200 कार्यशालाएँ चलाई हैं। आपका नाम Who's Who में अंकित है। ‘द संडे इंडियन’ ने विश्व की 111 हिन्दी लेखिकाओं में आपको दो बार चुना है। आपने एक महाकाव्य, चार खंडकाव्य, चार नाटक, अस्सी एकांकी, तेरह उपन्यास, दो कहानी संग्रह, दो पत्राकारिता, छह राजभाषा, एक विज्ञापन-कला, एक भाषान्तरण कला, संचार माध्यम, मीठी हिन्दी, हिन्दी साहित्य का इतिहास, दो कविता संकलन, एक साहित्यिक निबन्ध तथा कई पुस्तकों का सम्पादन-लेखन भी किया है। ‘इंटरनेट का माऊस’ कहानी संग्रह के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित।

Additional Info

Additional Info

Author Dr.Madhu Dhawan
ISBN 9789350728635
Publisher Vani Prakashan
Year of Publication 2018

Reviews

Write Your Own Review

You're reviewing: Mahalaxmi Ji Kahan Rahti Hain Tatha Anya Kahaniyan

Tags

Tags

Use spaces to separate tags. Use single quotes (') for phrases.